राम-केवट संवाद देखकर छंगापुर के दर्शक हुए भाव विभोर

राम केवट संवाद को देखकर भाव विभोर हुए छंगापुर गांव के लोग: 

JAUNPUR NEWS बदलापुर। राम-केवट संवाद देखकर छंगापुर के दर्शक हुए भाव विभोर श्रीराम शास्त्री बाल धर्म मण्डल रामलीला समिति छंगापुर, बक्खोपुर में शनिवार की रात कोप भवन, राम वन गमन, दशरथ मरण, राम केवट संवाद का मंचन हुआ ।राम-केवट संवाद रामलीला मंच पर मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम के आदर्शो को बताया गया है।राजा दशरथ ने कैकेयी के दोनों वचनों को पूरा करने के लिए राम वन गमन को विवश हो जाते हैं । तब राम ने खुद वन गमन का प्रस्ताव मान लिया। महाराज दशरथ को समझाते हैं l

और सीता व लक्ष्मण मंत्री सुमंत के साथ प्रस्थान कर जाते हैं।अयोध्या की सीमा से सुमंत को वापस कर देते हैं और उसके बाद खुद वहीं से पैदल चलकर नदी के पास पहुंचते हैं। नदी पार करने के लिए केवट को बुलाते हैं । केवट आने पर प्रभु राम को पहचान जाता है और नदी पार कराने से मना  कर देता है। प्रभु राम कारण पूछते हैं तो केवट कहता है कि आपको बैठाने से मेरी नौका औरत बन जायेगी तो मैं क्या करूंगा । इसलिए आपके पांव को पखारने के बाद ही बैठा सकता हूं प्रभु राम इस पर सहमत हो जातें हैं। केवट उनके पांव को धोकर नौका में बैठाकर नदी पार कराया । यह मंचन देख दर्शक भाव- विभोर हो गये । जय श्रीराम के जयकारे से पूरा पंडाल गूंज उठा। रामलीला में मनोज तिवारी, कुलदीप, गौरव तिवारी, दीपक,विष्णु अभय ,कान्हा आदि ने मंचन किया ।

नया आधार एवं संशोधन के लिए जौनपुर समेत 6 जनपदों में चलेगा विशेष अभियान 
खबर को शेयर करें :

Comments are closed.