जौनपुर में 3 रेलवे ओवर ब्रिज का निर्माण जल्द होगा सुरु,जाम से मिलेगी निजात   

Construction of 3 railway over bridges in Jaunpur will begin soon, will provide relief from traffic jam

JAUNPUR NEWS : जौनपुर में नईगंज जफराबाद जगदीशपुर रेलवे क्रासिंग के उपर जल्द सुरु होगा ओवर ब्रिज का निर्माण ,जाम से मिलेगी निजात जनपद जौनपुर में प्रस्तावित रेलवे क्रासिंग के ऊपर बनाए जाने वाले ओवर ब्रिज का निर्माण अब जल्द सुरु हो जाएगा शनिवार को जिलाधिकारी रविंद्र कुमार माँदड की अध्यक्षता में देर सायं मीटिंग हाल में जिले के अधिकारियो की बैठक बुलाई गई बैठक में जिले में रेलवे कासिंग के ऊपर ओवर ब्रिज बनाने के संबंध में बैठक की गयी। जिसमे  रेलवे कासिंग के ऊपर ओवर ब्रिज बनाने के संबंध में वार्ता की गयी ।

पी०डी०एन०एच०आई० एस०पी० पाठक ने मीटिंग में  बताया गया कि जगदीशपुर, जफराबाद, नईगंज कांसिंग पर ओवर ब्रिज पास हो गया है। जल्द से जल्द काम शुरू हो जायेगा। जिससे शहरवासियों को जाम से मुक्ति मिल जायेगी कुत्तुपुर व हौज में भी रेलवे कासिंग है हमेशा बंद रहता है कभी कभी घंटो रेलवे का फाटक बंद होने के कारण सडक पर जाम लग जाता है। जाम से मुक्ति दिलाने हेतु अधिशासी अभियंता लोक निर्माण प्रान्तीय खण्ड जौनपुर को डी०पी०आर० तीन दिवस में बनाने हेतु निर्देशित किया गया है।बैठक में पी०डी०एन०एच०आई० आजमगढ, अधिशासी अभियंता एन०एच०आई० प्रयागराज, अधिशासी अभियंता लोक निर्माण विभाग प्रान्तीय खण्ड जौनपुर आदि उपस्थित रहें।

यह भी पढ़े : UP Police Exam Cancelled: यूपी पुलिस भर्ती परीक्षा निरस्त


समाचार – उच्च शिक्षा 

जौनपुर में सेंट्रल ट्रेनिंग एंड प्लेसमेंट सेल की नई पहल वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय में सेंट्रल ट्रेनिंग एंड प्लेसमेंट सेल (सीटीपीसी) द्वारा शनिवार को एक नयी शुरुआत की गई। इसमें विश्वविद्यालय के पूर्व छात्र सचिन सिंह जो कि लीड सिक्योरिटी इंजीनियर के रुप में अमेजन डब्लिन, आयरलैंड में कार्यरत हैं उनकी आनलाईन मीटिंग कराई गयी। इसमें मुख्य वक्ता के रूप में सचिन सिंह ने कहा कि आपको एक फ्रेशर के रूप में कोई भी कम्पनी नौकरी थाली में आसानी से परोस कर नहीं देती। इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी करने के बाद माक इंटरव्यू व प्रतिदिन अपने व्यवसाय से संबंधित नयी चीजों को निरंतर सीखना सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है।

उन्होंने कहा कि मैंने छोटी उभरती हुई कंपनी जिसमें तनख्वाह कम थी परन्तु सिखने को बहुत कुछ मिला। उन्होंने बच्चों के कई प्रश्नों के उत्तर जैसे “कि कालेज में क्या अलग करें जिससे कि नौकरी मिले”। इस पर उन्होंने बताया डिसीप्लिन, सॉफ्ट स्किल और कम्युनिकेशन स्कील पर विशेष ध्यान दें। इतने वर्षों बाद विश्वविद्यालय से जुड़ के भावुक हो गए और कहा मुझे गर्व है कि मैं वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय का छात्र रहा हूँ व भविष्य में किसी भी प्रकार कि मदद  का भी आश्वासन दिया । प्रो. प्रदीप कुमार कोऑर्डिनेटर , सेंटर ट्रेनिंग प्लेसमेंट सेल ने कहा कि नई शिक्षा नीति के तहत OIA और सेन्ट्रल ट्रेनिंग प्लेसमेंट सेल के तत्वावधान में ये नियम है कि ऐसे कार्यक्रमों का आयोजन हो । 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments