गाजीपुर बस हादसे में बिजली विभाग के 3 अधिकारी निलंबित 1 की सेवा समाप्त

Ghazipur bus accident: 3 officials of electricity department suspended,1 service terminated

GHAZIPUR BUS HADSA 2024 लखनऊ। गाजीपुर बस हादसे में मंत्री श्री शर्मा ने मण्डलायुक्त,डीएम,एमडी समेत अन्य अधिकारीयों से बात कर राहत एवं बचाव कार्य में तेजी लाने को कहा गाजीपुर जिले में बस के हाई टेंशन बिजली के तार के संपर्क में आने से दुःखद हादसा हुआ है। बस में लगी आग से पांच लोगों की मृत्यु हो गयी वहीं कई लोग झुलस गए हैं। ऊर्जा एवं नहर विकास मंत्री  ए.के. शर्मा ने घटना की जानकारी होते ही तीन अधिकारियों को निलंबित और एक की सेवा समाप्त कर दी है।

वहीं बस हादसे पर दुख व्यक्त करते हुए मृतकों की आत्मा को शांति प्रदान करने एवं परिजनों को संबल देने की ईश्वर से प्रार्थना की है। गौर तलब हो कि  इस घटना के बारे में बताया जा रहा है कि मऊ जिले से शादी के लिए बस में सवार होकर महाहर धाम मंदिर गाजीपुर जा रहे थे तभी उपर से हुजरे बिजली के हाईटेंशन तार चपेट में बस आ गई देखते देखते ही बस आग का गोला बन गई हादसा  मिनी बस में 11000 वोल्ट का तार छू जाने से आगलग आग इतनी भयावह थी कि कोई भी आग बुझाने के लिए बस के करीब जाने की हिम्मत नहीं जुटा पा रहा था बस से कुछ दूर पर खड़े लोग मोबाइल से वीडियो बना रहे थे  जिसमे  आधा दर्जन लोगों की मौत हो गई  l

यह भी पढ़े : Ghazipur Bus Hadsaदुल्हन के परिवार के सभी सदस्य सुरक्षित,दुल्हन की हुई विदाई 

मंत्री श् शर्मा ने घटना की जानकारी मिलते ही सख्त कार्रवाई करते हुए अधिशासी अभियंता मनीष, एस डी ओ संतोष चौधरी और जेई प्रदीप कुमार राय को निलंबित और लाइनमैन नरेंद्र (संविदा कर्मी) की सेवा समाप्ति के निर्देश दे दिए हैं। उन्होंने पूर्वांचल विद्युत वितरण निगम के एमडी, मंडलायुक्त, ज़िलाधिकारी एवं अधीक्षण अभियंता से बात की। सभी अधिकारियों को राहत कार्य में तेजी लाते हुए, घायलों के समुचित उपचार की व्यवस्था सहित प्रभावित लोगों की हर संभव मदद करने का आग्रह किया है। साथ ही मंत्री श्री शर्मा पीड़ित परिवारों से स्वयं मिलने के लिए गाजीपुर और मऊ भी पहुंचे।

बता दें कि गाजीपुर के मरदह थाना के 400 मीटर के पास एचटी तार के संपर्क में आने से बस में आ आग लग गई। जिसमें कुल 5 लोगों की मौत हो गयी हैं, वहीं 10 से अधिक लोग घायल बताये जा रहे हैं। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। हादसे का शिकार हुई बस बरातियों से भरी बताई जा रही है। बस मऊ से एक वैवाहिक कार्यक्रम में जा रही थी जिसमें कुल 38 बराती बस में सवार थे।

मीडिया खबर के मुताविक मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस हादसे  पर गहरा दुख जताते हुए मृतकों के परिजनों को पांच पांच लाख और गंभीर रूप से घायलों को 50-50 हजार की आर्थिक सहायता और उनके मुक्त उपचार के निर्देश दिए हैं यूपी के गाजीपुर में सोमवार को हुए बस हादसे में अब तक छह लोगों की मौत की खबर है।

यह भी पढ़े : CAAकानून भारत में हुआ लागू,सुरक्षा ब्यवस्था को लेकर देश भर में पुलिस तैनात

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments