JAUNPUR के हिंदी भवन में गीता महोत्सव का हुआ आयोजन

गीता ज्ञान कर्म और भक्ति की त्रिवेणी है-राकेश मिश्रा

JAUNPUR NEWS जौनपुर। भगवद्गीता परिवार द्वारा रविवार को कोतवाली क्षेत्र के हिंदी भवन जौनपुर में  गीता महोत्सव का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ मेडिकल एसोसिएशन जौनपुर के अध्यक्ष डा अरुण कुमार मिश्रा,पूर्वांचल विश्वविद्यालय मनोविज्ञान की प्रोफेसर डा जान्हवी श्रीवास्तव, वरिष्ठ समाजसेवी डा विमला सिंह, आध्यात्मिक वक्ता व मोटिवेशनल स्पीकर राकेश मिश्रा और जनपद एड्स काउन्सलर व ख्यातिलब्ध कवयित्री डां सीमा सिंह के द्वारा मां सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्वलन व वंदना कर किया गया।

समारोह को संबोधित करते हुए आध्यात्मिक वक्ता व मोटिवेशनल स्पीकर राकेश मिश्रा ने कहा कि गीता के प्रत्येक श्लोक मंत्र हैं इसके श्लोकों को हृदय में उतारने से
अंतःकरण शुद्ध होता है और इसका हर शब्द अमृत है। गीता के अनुसार आचरण करने मनुष्य का तुरंत उद्धार हो जाता है। वरिष्ठ चिकित्सक डा अरुण मिश्रा ने कहा कि गीता साक्षात भगवान की वाणी है ,गीता ज्ञान रूपी गंगा जल में स्नान करने पर समस्त पाप ताप जलकर नष्ट हो जाते हैं। मनोविज्ञान की प्रोफेसर डा जान्हवी श्रीवास्तव ने कहा कि गीता में कहा गया है कि व्यर्थ की चिंता क्यों करते हो ? किससे डरते हो? डर को त्याग दो ! जब आत्मा न पैदा हो सकती है और न मर सकती है तो फिर डरने की जरूरत नहीं है ।इस ज्ञान को हर इंसान को अपनाना चाहिए क्योंकि चिंता करने से जीवात्मा और शरीर दोनों को कष्ट पहुंचता है। आज के समय में तनाव के कारण इंसान को तरह-तरह की बीमारियां उत्पन्न हो रही है ऐसे में गीता का यह ज्ञान मनुष्य के लिए बहुत फायदेमंद हो सकता है। 

जनपद एड्स काउन्सलर व कवयित्री डा सीमा सिंह ने कहा कि गीता एक दर्शन है यह जीवन जीने की सबसे अच्छी कला सिखाती है। इसी कड़ी में शिक्षिका व कवियत्री डा सुमति श्रीवास्तव ने कहा कि गीता सुख-दुख, लाभ हानि, मान अपमान में सम रहना सिखाती है। अटल, अडिग और सम रहकर अपना कर्तव्य कर्म करने के लिए प्रेरित करती है।

इस ग्रंथ में ऐसा कोई भी शब्द नही है जो सदुपदेश से खाली हो। प्रसिद्ध.हृदय रोग चिकित्सक डा बीएस उपाध्याय ने ह्रदय रोग के कारण और निवारण सम्बन्धित सामान्य जानकारी देते हुए पर्यावरण के प्रति जागरूक किया। दार्शनिक, साहित्यकार व आदित्य बिड़ला कैपिटल जौनपुर
के मैनेजर राजेश पांडेय ने बहुत ही आकर्षक अंदाज में संचालन का कार्य किया। सिद्धि एकेडमी की ताइक्वांडो कोच श्वेता सिंह ने मार्शल आर्ट का प्रदर्शन किया।

तिलकधारी इंटर कालेज की छात्रा ,अंशिका तिवारी,संस्कृति गुप्ता और सुमायल,फातमा ने बारी बारी से मधुर कृष्ण भजन प्रस्तुत किया। गीता ज्ञान मंदिर की छात्रा अंबिका गुप्ता ने पर्यावरण पर प्रकाश डालते हुए कहा कि यह प्राण
वायु कहीं प्राणहर्ता न बन जाए। इस समारोह में वरिष्ठ समाजसेवी डा विमला सिंह, संजय उपाध्याय, मंजू सिंह, शिवसागर तिवारी, संतोष श्रीवास्तव सहित कई गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहे !कार्यक्रम के अंत में आयोजक राकेश मिश्रा जी ने सभी उपस्थित जनो के प्रति आभार व्यक्त किया।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments