संत निरंकारी पट्टी की शाखा ने मनाया मानव एकता दिवस

मानवता की मिसाल कायम कर रहीं सद्गुरु माता सुदीक्षा जी महाराज :मानिकचंद तिवारी, मानव एकता दिवस पर याद किए गए बाबा गुरबचन सिंह महाराज

सुईथाकला ( जौनपुर ) संत निरंकारी मिशन की शाखा पट्टी नरेंद्रपुर में 24 अप्रैल बुधवार को ज्ञान प्रचारक महात्मा मानिक चंद तिवारी की अध्यक्षता में मानव एकता दिवस मनाया गया। उपस्थित निरंकारी संतो को संबोधित करते हुए श्री तिवारी ने कहा कि सद्गुरु बाबा गुरबचन सिंह जी महाराज मानवता के मसीहा थे। उन्होंने बताया कि मानवता की रक्षा के लिए उन्होंने बीड़ा उठाया था।उन्होंने मानवता की स्थापना के लिए अपना सर्वस्व न्योछावर कर दिया। उन्होंने कहा कि सद्गुरु शरीर नहीं होता बल्कि ज्ञान होता है। सतगुरु अंतर्यामी होता है जो अपनी नश्वर शरीर छोड़ने से पहले ही संकेत कर देते हैं।सतगुरु माता सुदीक्षा जी महाराज पूरे विश्व को ब्रह्म ज्ञान प्रदान करके इंसानियत की मिसाल कायम कर रही हैं। माता सुदीक्षा जी महाराज की रहनुमाई में मिशन पूरे विश्व में एक वट वृक्ष का रूप धारण कर चुका है। उन्होंने कहा कि सद्गुरु मानव को ब्रह्म ज्ञान प्रदान करके अपनी विराट सत्ता निराकार से आत्मा का नाता जोड़कर जन्म मरण के बंधन से मुक्त कर देता है।सद्गुरु सबको अपने समान बनाता है शिष्य नहीं। उन्होंने कहा कि संत निरंकारी मिशन अखंड और विराट सत्ता निराकार पारब्रह्म से संचालित होता है किसी व्यक्ति विशेष से नहीं। महात्मा डॉ वीरेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि मनुष्य के जन्म का लक्ष्य भगवत प्राप्ति है।आत्म कल्याण के लिए समय निकालकर ईश्वर की भक्ति करनी चाहिए।महात्मा राजित राम ने कहा कि आज का दिन बाबा गुरबचन सिंह जी महाराज के मानवता के लिए कुर्बानी का दिन है।सतगुरु मनुष्य के दिल को एक दूसरे से जोड़ने का काम करता है।रामसागर जौनपुरी की भजन सुनकर साध संगत झूम उठी । जंतीरा, पिंटू ,राम अजोर विद्यावती और जयशंकर मौर्य ने भी अपने गीत -विचार प्रकट करके सद्गुरु से आशीर्वाद प्राप्त किया।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments