जौनपुर की इमरती का G.I में हुआ पंजीयन,देश विदेश में नई पहचान मिलेगी

Imarti of Jaunpur : जौनपुर की इमरती का जी0आई0 में हुआ पंजीयन अब देश विदेश में नई पहचान मिलेगी, विगत दो वर्षो से जौनपुर की मशहूर इमरती को जी०आई० टैग दिलाने हेतु मिली सफलता जी०आई० रजिस्ट्रार कार्यालय चेन्नई द्वारा दी गई। इस नई पहचान से जौनपुर की मशहूर Imarti को देश एवं विदेश में विशेष स्थान प्राप्त होगा विज्ञप्ति के माध्यम से उपायुक्त उद्योग,जिला उद्योग प्रोत्साहन तथा उद्यमिता विकास केन्द्र हर्ष प्रताप सिंह ने अवगत कराया कि बेनीराम की प्रसिद्ध इमरती का इतिहास ब्रिटिश काल से (लगभग 200 वर्ष पूर्व) का है, जिसको बनाने की विधि सामान्य इमरती से पूर्णतया भिन्न है लकडी की धीमी आँच पर देसी चीनी (खाँड़सारी), देसी घी एवं उड़द की दाल प्रयोग कर विशेष विधि से बनाई जाती है। यह इतनी मुलायम होती है कि मुँह में डालते ही घुल जाती है। यहा की मशहूर इमरती की देश एवं विदेश में अलग मांग है। जी०आई० टैग एक ऐसा चिन्ह है जिसका उपयोग उन विशेष उत्पादो पर किया जाता है जो किसी विशिष्ट भौगोलिक स्थान या मूल से संबंधित होते है।

जी०आई० टैग यह सुनिश्चित करता है कि केवल अधिकृत उपयोगकर्ताओ या भौगोलिक क्षेत्र में रहने वाले लोगो को ही लोकप्रिय उत्पाद के नाम का उपयोग करने की अनुमति है। यह उत्पाद को दूसरो द्वारा नकल या अनुकरण किये जाने से बचाता है जी0आई0 टैग की वैद्यता 10 वर्षो के लिये होती है। जनपद जौनपुर की Imarti जी0आई0 टैग मिलने के साथ-साथ इस वित्तिय वर्ष में जी0आई0 रजिस्ट्रार कार्यालय चेन्नई में 160 नये उत्पाद और भी जी0आई0 पंजीकृत हुये उनमें यू0पी0 के 14 उत्पाद जिसमें वाराणसी के लाल पेड़ा के साथ-साथ बनारसी पान को जी0आई0 पंजीकृत प्राप्त हुआ उ0प्र0 में अब तक कुल 69 जी0आई0 टैग पंजीकृत हुये है जो अन्य राज्य की तुलना में सर्वाधिक है। 

विगत 2 वर्षो से जौनपुर में बेनीराम की प्रसिद्ध इमरती को जी0आई0 टैग पंजीकृत कराने हेतु प्रक्रिया चल रही थी जिला प्रशासन, कार्यालय उपायुक्त उद्योग, नाबार्ड एवं पदमश्री डाॅ0 रजनीकान्त (जी0आई0 पंजीयन विशेषज्ञ) की इस उपलब्धि में महत्वपूर्ण भूमिका है। जिलाधिकारी जौनपुर द्वारा बताया गया कि JAUNPUR KI IMARTI का जी0आई0 का पंजीयन होने से देश विदेश में नई पहचान मिलेगी जो जनपदवासियो के लिये गर्व की बात है। मुख्य विकास अधिकारी द्वारा बताया गया कि [jaunapur kee imaratee ] जौनपुर की इमरती का जी0आई0 का पंजीयन की प्रकिया विगत 02 वर्षो से चल रही थी जिला प्रशासन के साथ कार्यालय उपायुक्त उद्योग द्वारा जी0आई0 पंजीयन में अहम भूमिका निभाई गयी। इस नई पहचान से जौनपुर की इमरती को देश विदेशो में विशेष प्रसिद्धी प्राप्त होगी एवं यहाँ के उत्पादो को ऑनलाइन प्लेटफार्म उपलब्ध कराकर नये बाजार स्थापित होगा। उपायुक्त उद्योग हर्ष प्रताप सिंह द्वारा बताया गया कि इमरती का जी0आई0 पंजीयन होने से जनपदवासियो के लिये हर्ष उल्लास एव गर्व की बात है इमरती के बाद जौनपुर के मशहूर मूली एवं मक्का के साथ जौनपुर इत्र के जी0आई0 पंजीयन की प्रकिया शीध्र शूरू की जायेगी।

यह भी पढ़े : जौनपुर लोकसभा बीजेपी प्रत्याशी कृपाशंकर सिंह पर, जमकर बरसे अशोक सिंह

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments