back to top

X Mp dhananjay singh जौनपुर की जमानत मंजूर,पत्नी ने बताया जान को खतरा

जौनपुर। X Mp dhananjay singh बाहुबली पूर्व सांसद धनंजय सिंह की सजा पर रोक लगाने से इंकार, जमानत मंजूर,अपहरण मामले में मिली है सात साल की सजा।

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने जौनपुर के पूर्व सांसद धनंजय सिंह की जमानत मंजूर कर ली है। परन्तु सजा निलंबित करने से इनकार कर दिया है। उन्हें एमपी-एमएलए कोर्ट ने अपहरण और जबरन वसूली मामले में सात साल की कैद की सजा सुनाई है हाईकोर्ट ने सात साल की सजा हस्तक्षेप न कर बरकरार रखा है। वो अभी चुनाव नहीं लड़ सकेंगे।

यह आदेश न्यायमूर्ति संजय कुमार सिंह ने पूर्व सांसद धनंजय सिंह की सजा के खिलाफ दाखिल अपील पर दिया है। मालूम हो कि नमामि गंगे के प्रोजेक्ट मैनेजर अभिनव सिंघल का अपहरण कराने, रंगदारी मांगने, गालियां और धमकी देने के आरोपी जौनपुर के पूर्व सांसद धनंजय सिंह की जमानत अर्जी पर इलाहाबाद हाईकोर्ट में चली सुनवाई गुरुवार को पूरी हो गई थी।और फैसला सुरक्षित कर लिया था।


शनिवार को अदालत ने X Mp dhananjay singh पर फैसला सुनाया। आज ही उन्हें बरेली जेल में शिफ्ट किया गया है। अपहरण मामले में पूर्व सांसद धनंजय सिंह ने जौनपुर की विशेष अदालत से मिली सात साल की कैद की सजा के खिलाफ हाईकोर्ट में अपील दाखिल कर अंतिम फैसला आने तक सजा पर रोक लगाए जाने और जमानत पर जेल से रिहा किए जाने के लिए हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया था।

इधर जौनपुर जेल से आज सुबह पूर्व सांसद धनन्यज सिंह को भारी सुरक्षा के बीच बरेली जेल में स्विफ्ट करने के लिए बरेली जेल लेकर रवाना हुई इस मामले पर जेल अधीक्षक से लेकर डीएम एसपी तक मीडिया से बात करने से कतराते रहे।

इनसब के बीच आज दोपहर 1 बजे मोटल उत्सव में धनंजय सिंह की पत्नी बसपा प्रत्याशी श्री कला सिंह ने एक प्रेस वार्ता का आयोजन किया जिसमें उन्होंने पत्रकारों से बात चीत करते हुए कहा कि इस संकट की घड़ी में यहां इतनी संख्या में आने के लिए हृदय से आभार, आप के सिवा अब मेरे इस धर्म युद्ध को जौनपुर के पूज्य माताओं, बहनों और भाइयों तक पहुँचाने का कोई और सहारा नहीं है मेरे पास।

ये धर्म युद्ध है एक बहू के सिन्दूर को बचाने का, बाबा साहब भीम राव अम्बेडकर के संविधान को बचाने का और आपके अपने बेटे धनंजय सिंह के सम्मान को बचाने का। मेरे पति और आपके बेटे का गुनाह सिर्फ इतना है कि वो निर्भीक है, आपकी लड़ाई में उन्हें कभी समझौते नहीं किये।

उन्होंने बिना रुके, बिना थके जौनपुर के लोगों की सेवा की है और जब आपकी आवाज को सदन तक पहुंचाने के लिए चुनाव लड़ने का फैसला किया तो उनके ऊपर फर्जी मुकादमे कायम कराये गए। भ्रष्टाचार के विरुद्ध लड़ाई को कोई और रूप दिया गया।

अभी जब माननीय उच्च न्यायालय ने बहस के बाद अपना फैसला सुरक्षित रखा था तो भी ये लोग बौखलाहट में उनका जेल ट्रांसफर कर दिया। इन लोगो के अंदर माननीय उच्च न्यायालय के फैसले का भी इंतजार करने का या उसका सम्मान करने का साहस नहीं।

मेरे X Mp dhananjay singh पति के ऊपर जिन लोगों ने जानलेवा हमला किया था वो लोग भी बदले घटनाक्रम में आज सत्ता के पाले में हैं और ये सब देखकर मुझे डर है कि ये लोग मेरे पति की हत्या का प्रयास कर सकते हैं या उनको किसी और फर्जी मुकदमों में फंसाने का कुचक्र कर सकते हैं।

आज में देश के प्रधान मंत्री जी से पूछना चाहता हूं कि विपक्ष की सरकार बनने पर आप मंगलसूत्र छीन जाने की बात करते हैं, आज आपकी सरकार में ही मेरे मंगल सूत्र पर संकट है। क्या आपका ध्यान उस पर नहीं जाएगा। क्या यहां जनता की सेवा में अपना सर्वस्व न्योछावर करने के बाद चुनाव लड़ने की इच्छा रखना गुनाह है?

आज में पुरुषार्थ और जज्बे की धरती जौनपुर के परिवार जन से पूछना चाहती हूं कि क्या आप अपने बेटे की अन्याय के विरूद्ध इस लड़ाई में उनका साथ नहीं देंगे?

अब आज के बाद ये लड़ाई सिर्फ मेरी नहीं है, अब ये लड़ाई जौनपुर के हर एक व्यक्ति को लड़नी है। ये लड़ाई किसी एक जाति या धर्म की नहीं होगी. ये लड़ाई होगी अपनी बहू के सिन्दूर को बचाने की, आपके अपने बेटे की जान को बबाने की, जौनपुर का सम्मान बचाने की। आप सबके सामने में अपना आंचल फैलाती हूं कि अपना प्यार, आशीर्वाद और साथ मेरी झोली में डाल दीजिए।

में आपके बिना कुछ भी नहीं हूं. आपका आशीर्वाद और साथ ही हमेशा से आपके बेटे X Mp dhananjay singh की ताकत बनी हुई है। आज वक्त है कि हम सब साथ मिलकर बोट के सौदागरों को जवाब दें, पैसे और ताकत से लड़ाइयां नहीं जीती जातो. उसके लिए लोगों का साथ और आशीर्वाद की जरुरत होती है। जो आज मेरे साथ है. आपके धनंजय सिंह के साथ हैं।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments